Metaverse Kya hai और Metaverse के फायदे क्या है?

Metaverse Kya hai
Metaverse Kya hai

Metaverse Kya hai?: आप लोगों ने तो इन्टरनेट का इस्तेमाल बहुत किया ही होगा। और यह भी जानते होगे की कैसे इंटरनेट में नई नई टेक्नोलॉजी आती रहती है। तो आपको बता दे कि अब इन्टरनेट पर एक new technology लॉन्च हुई है। जिसका नाम है Metaverse जो की एक वर्चुअल दुनिया जैसा है। भविष्य को देखते हुए वैज्ञानिकों ने यह technology लाने की सोची है। ताकि दुनिया future के लिए अभी से advance हो सके। इस लेख में हमने आपको Metaverse Kya hai? और Metaverse के फायदे क्या है? के बारे मेंबताया है। हमने इस पोस्ट को सरल और हिंदी भाषा में समझाने की पूरी कोशिश की है। आशा करते है कि पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए आप इस आर्टिकल् को अंत तक जरूर पढ़ेंगे।

Metaverse kya hai? 

यह एक टेक्नोलॉजी है जिसे वैज्ञानिकों ने भविष्य का सोच कर बनाया है। इस technology का इस्तेमाल भविष्य में किया जाएगा। देखा जाए तो Metaverse इंटरनेट की दुनिया का सबसे developed पार्ट है। यह एक तरीके की वर्चुअल दुनिया है जिसमें आपको अलग अलग तरह का experience करा पाएगा। 

आपको बता दे कि Metaverse दो शब्दों से जुड़कर बना है। एक है meta जिसका मतलब होता है इमेजिनेशन। और दूसरा शब्द verse जिसका मतलब होता है universe और ब्रह्मांड। इनको जोड़कर देखा है तो Metaverse एक इमेजिनेशन और आर्टिफिशियल दुनिया।

Metaverse ki History kya hai

एक अमेरिकी लेखक Neal stephenson ने सन् 1992 में पहली बार Metaverse का नाम अपनी नोबेल में लिया था। उन्होंने अपनी किताब में एक ऐसी इमैजिनरी दुनिया की ही बात की थी।  जिसमें सारी बाहर की दुनिया खत्म हो जाती है और लोग अपने घर की चार दीवारों में रहकर। इस वर्चुअल रियलिटी में अपना जीवन बिताते है।

अब इसके बाद Philip Rosedale नाम के वैज्ञानिक ने सन् 2003 में online virtual world को explain किया। जिसमें उन्होंने virtual world के अंदर दूसरे जीवन के बारे में बताया।

मेटावर्स के अंदर क्या-क्या किया जा सकता है?

आपको बता दे कि imaginary world के अंदर हम अपने रीयल लाइफ जैसे काम कर सकते हैं। जैसे कि मनोरंजन, गेम खेलना या प्रॉपर्टी खरीदना आदि। किसी भी तरह के काम को करने के लिए आपको अवतार की जरूरत होती है। 

अवतार एक तरीके 3D representations या आपके रूप का ही एक pattern होगा। इमैजिनरी दुनिया के अंदर आप  जो कुछ भी करते हैं। उसका आपकी असली दुनिया और जीवन में कोई असर नहीं पड़ता है। तो आइए आपको बताते है कि आप Metaverse की दुनिया में क्या क्या कर सकते हैं। 

Play (खेल)

जैसा कि अभी के समय में आप अपने स्मार्टफोन में अपने पसंदीदा game खेलते है। जो कि 3D रूप में भी मौजूद है। परंतु Metaverse की दुनिया में आप गेम तो खेलेंगे ही। पर गेम के अंदर जा कर असल जिंदगी जैसा खेल सकते हैं।

Work (kaam) 

आप metaverse की दुनिया में ऑफिस आना जाना और ऑफिस के कई काम कर सकते हो। आप किसी भी तरह का काम metaverse द्वारा कर सकते हैं।

Enjoy (आनंद)

वर्चुअल दुनिया में आप संगीत कार्यक्रम और नाच गाने के अलग रूपों में एंटर कर पाएंगे। ऐसी बहुत सी चीजें है जिसकी मदद से आप मेटावर्स के अंदर enjoy कर सकते हैं।

Buy (खरीदना) 

आप metaverse में कुछ भी खरीद सकते है। जैसे किसी भी तरह का प्रॉपर्टी, जमीन और घरेलू सामान खरीदा जा सकता है। सामान खरीदने के बाद उसका इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

Socialise ( घुलना मिलना)

Metaverse में आप अपना खुद का एक वर्चुअल अवतार बना सकते हैं। जिसकी मदद से आप दूसरों से contact कर सकते हैं। यह अवतार सोशलाइज होने  की सुविधा प्रदान करता हैं।

Metaverse का उपयोग कैसे करे?

आपको ये तो पता ही है कि Metaverse की मदद से एक वर्चुअल दुनिया तो बनाई ही जायेगी। उसके साथ साथ बहुत सी ऐसी चीज़ें है जो हम इसके मदद से करेंगे और उसका फायदा होगा। मेटावर्स का इस्तेमाल करके हम ऑनलाइन प्रॉपर्टी को खरीद और बेच पाएंगे। जिसके मदद से ऑनलाइन बिजनेस में बढ़ोतरी होगी। इमैजिनरी दुनिया के अंदर घर, बिल्डिंग, और पेंटिंग जैसे सामानों का भी लेन देन कर पाएंगे।

वर्चुअल दुनिया को बिजनेस के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता हैं। इसके साथ ही ऑनलाइन गेम्स को भी मेटावर्स में change किया जाएगा। जिसकी मदद से हम ऑनलाइन गेम के अंदर जाकर रीयल लाइफ जैसे गेम का मज़ा ले पाएंगे।

यह भी पढ़े: Instagram Threads Kya hai और Instagram Threads Vs Twitter में क्या अंतर है?

Metaverse के फ़ायदे क्या है? 

इसके आने के बाद लोगों को बहुत से फायदे मिलेंगे। तो आइए जानते है इसके लाभ के बारे में।

  • Metaverse के आने से लोगों को नई नई चीजों का अनुभव होगा। इसके आने के बाद दुनिया को एक नई दिशा मिलेगी।
  • आज के समय में जिस तरह से ऑनलाइन क्लास को हम केवल विडियो के द्वारा से ले पाते है। उसी क्लास को हम मेटावर्स की मदद से बिलकुल आमने-सामने बैठे कर ले पायेंगे। वहां होने की फीलिंग के साथ पढाई भी कर सकते है। और अपने टीचर से डायरेक्ट सवाल जबाब भी कर सकते है।
  • लोग बिना ऑफ़िस गए ही घर से वर्चुअली लोगों से मिल सकेंगे। ऑफिस का सारा काम आप physically कर पायेंगे वो भी वहां बिना गए ही।
  • यदि आपको पूरी दुनिया घूमनी होगी तो वो आप बिना घर से कही गए घूम सकते है।

Metaverse के नुकसान क्या है?

आपको को पता ही होगा जितने नई technology के फायदे होते है। साथ साथ उतने ही नुकसान भी। तो आइए जानते है क्या है इसके नुकसान।

  • Metaverse आने के बाद लोगों की जिंदगी कॉम्प्लेक्स हो जायेगी। सिंपल चीजों को भी समझना मुश्किल हो जायेगा। 
  • साइबर क्राइम अभी 2D के समय में इतनी है। तो 3D के आते ही साइबर क्राइम पहले से कही ज़्यादा बढ़ सकते है।
  • इसमें यूजर्स के डाटा की प्राइवेसी को नुकसान पहुंच सकता है। 
  • लोग रीयल चीजों को महसूस करना और खुश रहना कम कर सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें हर चीज वर्चुअल ही होगी।
  • इंसान केवल virtually अपनों से मिलने लगेंगे तो उन्हें आमने सामने जा कर मिलना पसंद नहीं आएगा। ऐसे धीरे धीरे लोग एक दूसरे से दूर होने लगेंगे।
  • इसका इस्तेमाल करके लोगों की मानसिक परेशानियां बढ़ सकती हैं।
  • अभी जैसे बच्चे वर्चूअल गेम्स खेलने में खो जाते है।  वैसा ही अगर Metaverse में होने लगा तो इसका दुनिया पर बुरा प्रभाव पड़ेगा।

मेटावर्स कब तक आना संभव होगा ?

यह मेटावर्स का कांसेप्ट कब तक हमारे जीवन का पार्ट बनेगा इसे केवल अभी कोई भी फिक्स अनुमान लगाना काफी कठिन है। Metaverse का कांसेप्ट लाने वाले मेटा के CEO Mark Zuckerberg भी इस विषय के बारे में अभी कुछ खास ऐलान करने की अवस्था में नही है। अभी केवल यह कहा जा रहा है कि अभी Metaverse को जीवन का हिस्सा बनने में काफी समय लगने वाला है। इस metaverse के आने के लिए अभी हमारे एडवांस फीचर्स में काफी परिवर्तन आना बेहद जरूरी है।

मेटावर्स में यूजर्स कैसे नजर आने वाले है?

आपको अब तक यह तो समझ आ गया होगा कि Metaverse क्या है। पर आइए अब आपको हम बताएंगे कि इसमें आपको क्या क्या चीज़ें देखने को मिलेंगी। Metaverse में यूजर अवतार के रूप में नजर आता है। अवतार का मतलब होता है कैरेक्टर जो कि 3D फॉर्म में होता है। अवतार यूजर्स का ही एक वर्चुअल दुनिया के अंदर खुद के मौजूदगी और दूसरों के मौजूदगी को रिप्रेजेंट करती है। Metaverse में यूजर्स अपनी मर्जी से अवतार को कस्टमजाइज करके बना सकते है। अवतार की मदद से ही आप वर्चुअल दुनिया में कैसे दिखते है, कैसे कपड़े पहनते है। यह सब दूसरे यूजर्स को दिखा पाएंगे। साथ ही इसकी मदद से ही आप दूसरे यूजर्स से socially interact कर पाएंगे।

मेटावर्स कैसे काम करेगा?

मेटा के सीईओ मार्क जुकरबर्ग का कहना है कि मेटावर्स के अंदर भी सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन होगा। यह हमारे नॉर्मल ऐप से काफी अलग होगा। आप इस Metaverse के माध्यम से अपने अवतार को क्रिएट कर पाने में सफल हो सकते है। यह आपके लिए एक 3D टेक्नोलॉजी के रूप में काम करेगा। आप इस मेटावर्स के माध्यम से एक दूसरे के साथ वर्चुअल तौर पर भी कनेक्ट कर सकते है।

मेटावर्स के उदहारण क्या है?

अगर आपने लंबी VR में गेम खेला है। तो उस समय पर गेम में घुस जाते है यह एक तरह का मेटावर्स का ही उदाहरण है। आप आने वाले समय में इस मेटावर्स के माध्यम से वो सब चीज कर सकते है जो आप एक दूसरे के साथ दूर रहकर नही कर सकते है। आप चाहे तो आप मेटावर्स के द्वारा दोस्तो, रिश्तेदारों के साथ वर्चुअल रियलिटी में बात कर सकते है।

निष्कर्ष

दोस्तों हमने इस आर्टिकल में आपको Metaverse kya hai के बारे में बताया है। साथ ही साथ आपको बताया है कि metaverse की हिस्ट्री,उसके उपयोग। उसके लाभ और नुकसान यह सब बताया है। हम आशा करते हैं कि आपको इस लेख द्वारा ज्यादा से ज्यादा जानकारी हासिल हो। ताकि आप भी इस पोस्ट द्वारा metaverse के बारे में जान सके और उसका इस्तेमाल भविष्य में कर सके। यदि आपको यह लेख अच्छा लगा तो अपने दोस्तों से शेयर करें। ताकि वह भी metaverse के बारे में जाने। अगर आपको इस आर्टिकल में कुछ भी सुझाव देना है। तो वह आप कमेंट द्वारा हमें बता सकते हैं। हम आपके कमेंट पर जल्द से जल्द रिप्लाई देने की कोशिश करेंगे।

F.A.Q.

  • Metaverse क्या है?

यह एक टेक्नोलॉजी है जिसे वैज्ञानिकों ने भविष्य का सोच कर बनाया है। इस technology का इस्तेमाल भविष्य में किया जाएगा। यह एक तरीके की वर्चुअल दुनिया है जिसमें आपको अलग अलग तरह का experience करा पाएगा। 

  • Metaverse में अवतार क्या है?

अवतार का मतलब होता है कैरेक्टर जो कि 3D फॉर्म में होता है। अवतार यूजर्स का ही एक वर्चुअल दुनिया के अंदर खुद के मौजूदगी और दूसरों के मौजूदगी को रिप्रेजेंट करती है।

  • मेटावर्स शब्द को किसने बनाया और कब?

एक अमेरिकी लेखक Neal stephenson ने सन् 1992 में पहली बार Metaverse का नाम अपनी नोबेल में लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x
Realme 12+ 5G Launch Date, Design, Colourways Confirmed; India Launch Officially Teased Top 6 Best SMS Apps for Android Top 7 Best Free Messaging Apps for Android Top 7 Best Netflix Games to Play on Your Smartphone Top 5G phones under Rs 30,000 to buy during Amazon & Flipkart sale
Realme 12+ 5G Launch Date, Design, Colourways Confirmed; India Launch Officially Teased Top 6 Best SMS Apps for Android Top 7 Best Free Messaging Apps for Android Top 7 Best Netflix Games to Play on Your Smartphone Top 5G phones under Rs 30,000 to buy during Amazon & Flipkart sale
Realme 12+ 5G Launch Date, Design, Colourways Confirmed; India Launch Officially Teased Top 6 Best SMS Apps for Android Top 7 Best Free Messaging Apps for Android Top 7 Best Netflix Games to Play on Your Smartphone Top 5G phones under Rs 30,000 to buy during Amazon & Flipkart sale