Web hosting क्या है, और कैसे खरीदें?

web hosting kya hai

Web hosting: दोस्तों आज हम जानेगे, की यह Web Hosting क्या है? यदि आप ऑनलाइन एक ब्लॉग अथवा वेबसाइट को बनाकर इनकम के बारे मैं सोच रहे है, तो वेब होस्टिंग के बारे  में जरूर जानना चाहिए। 

इस आर्टिकल में आप web hosting क्या है? और web hosting कैसे खरीदें? के बारे में जानेंगे। Web Hosting कितने प्रकार की होती है। यह किस तरह काम करती है। एक अच्छे Hosting प्लान में क्या चीजें शामिल होती है। 

साथ ही प्लान खरीदते वक्त किन बातों को ध्यान रखना चाहिए। यह सब जानने के लिए आपको हमारा यह आर्टिकल काफी मदद करेगा।

किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट के लिए Web Hosting बहुत जरुरी होती है। पूरी वेबसाइट Web Hosting पर ही Based होती है। Hosting का चुनाव बहुत सोच समझ कर करना होता है।

Hosting प्लान खरीदना बहुत आसान बात है। लेकिन सही प्लान का चुनाव करना जरूरी है। इसमें Server, Bandwidth, Space और Uptime जैसी चीजों को ध्यान में रखना पड़ता है। 

इसीलिए आपको Web Hosting के बारे में सभी चीजों की जानकारी लेनी चाहिए। तभी आप इसे खरीद सकेंगे और Web Hosting आपके लिए फायदेमंद होगी।

यदि आप Web Hosting प्लान खरीदने का मन बना रहे है, तो आपको यह जरूर पता कर लेना चाहिए, कि अच्छे Web Hosting प्लान में कौन से फीचर्स होते है। एक ब्लॉग या वेबसाइट के लिए Web Hosting की क्या अहमियत है। 

जब तक आपको इसके बारे में पता नहीं होगा, आप अपने लिए एक Best Hosting प्लान चुनाव नहीं कर सकेंगे। इसलिए आप पहले hosting के बारे में विस्तार से जान लीजिए।

Web hosting क्या है? (What is Web Hosting)

WWW – World Wide Web में Web Hosting वह जगह होती है, जहां एक वेबसाइट को स्टोर करके रखा जाता है। और 24 घंटे सर्व किया जाता है। इसका मतलब यह है कि यह World Wide Web पर मौजूद एक ऑनलाइन स्पेस है। 

एक वेबसाइट की सारी फाइल यहां स्टोर करके रखी जाती है। जब कोई user किसी फाइल के लिए रिक्वेस्ट करता है। तो उसके सामने वह फाइल उपलब्ध करवाई जाती है। World Wide Web पर सूचनाओं को वेबसाइट के रूप में रखा जाता है। इसके लिए हर व्यवसाय को space की जरूरत होती है। 

जिस तरह घर बनाने के लिए जमीन की जरूरत पड़ती है। ऐसे ही एक वेबसाइट को भी अपनी फाइलें रखने के लिए, एक जगह की जरूरत होती है। इसे web hosting कहा जाता है।

मान लीजिए हम आपसे पूछे कि इस वक्त आप जो आर्टिकल रीड कर रहे है। यह कहां था, तो आप जवाब क्या देंगे। 

अगर आपने हमारे ब्राउज़र और World Wide Web वाले आर्टिकल पहले पढ़े है, तो आपको यह मालूम होगा कि आर्टिकल world wide web के Server में रखा हुआ है। और आपके ब्राउज़र की मदद से आपके स्क्रीन पर दिखाई दे रहा है।

Web hosting किस प्रकार से काम करती है?

किसी भी वेबसाइट पर विजिट करने के लिए, सबसे पहले वह ब्राउज़र ओपन किया जाता है। उस वेबसाइट का डोमेन नेम, जिसे एड्रेस भी कहते है। टाइप करके एंटर दबाते है। ऐसा करने पर वेबसाइट ओपन हो जाती है। 

लेकिन क्या आपको पता है, कि एंटर दबाने और वेबसाइट के ओपन होने के बीच में क्या-क्या हुआ है। पूरा प्रोसेस क्या है, अगर नहीं तो हम आपको बताते है, –

  • जब आप एंटर दबाते है तो डोमेन नेम के पीछे एक IP Address होता है। जो आपके एंटर दबाते ही एक्टिवेट हो जाता है। और आपकी रिक्वेस्ट वेबसाइट के server तक पहुंच जाती है।
  • IP Address असल में server का एड्रेस होता है। इसलिए आपकी रिक्वेस्ट उसी server पर जाती है। जिस server के लिए आप रिक्वेस्ट करते है। 
  • इस पेज को IP Address के माध्यम से खोजा जाता है। और आपके ब्राउज़र को भेज दिया जाता है। इस तरह वह पेज आपकी स्क्रीन पर दिखाई देने लगता है।
  • हर वेबसाइट का एक वेब server होता है। और वेब server का एक यूनिक IP Address होता है। जो वेबसाइट के डोमेन नेम से लिंक होता है। 
  • World wide web पर अनगिनत वेबसाइट और पहले से ही मौजूद होते है। एक वेब server को खोजने के लिए उसके आईपी ऐड्रेस का इस्तेमाल किया जाता है।

Web hosting कितने प्रकार की होती है? (types of hosting)

web hosting बहुत तरीकों की होती है। लेकिन सबसे popular और इस्तेमाल की जाने वाली web hosting के बारे में हम आपको बता रहे है। चार प्रकार की web hosting सबसे ज्यादा popular है –

Shared hosting

  • shared hosting का मतलब है। साझा hosting। दूसरे शब्दों में बहुत सी websites के द्वारा मिलकर यूज की जाने वाली hosting। 
  • यह एक सस्ती और popular hosting होती है। जो नए ब्लॉगर्स के लिए बहुत अच्छी होती है। 
  • इसमें स्पीड का थोड़ा सा प्रॉब्लम रहता है। लेकिन शुरुआत में blog पर ज्यादा ट्रैफिक नहीं आता है। मगर इससे ब्लॉगर्स को कोई खास परेशानी नहीं होती है। 
  • जब ट्रैफिक बढ़ने लगता है, तो site slow हो जाती है। और तब आपको अपना hosting प्लान अपग्रेड करना होता है।

shared hosting में server, RAM, CPU, सभी चीजें कॉमन होती है। जिसे सभी वेबसाइट मिलकर इस्तेमाल करती है। लेकिन resources को इस तरह मेंटेन करना होता है, कि सभी वेबसाइट को जरूरत के मुताबिक रिसोर्स मिल सके। 

किसी वेबसाइट को कभी कभी ज्यादा रिसोर्स की जरूरत भी पड़ती है। तो बाकी वेबसाइट के लिए resources नहीं कटौती करके उनकी जरूरतों को पूरा किया जाता है।

VPS Virtual private server 

VPS (Virtual private server) shared hosting से महंगी होती है। इसमें हर वेबसाइट का एक पर्सनल server होता है। उस पर सिर्फ उसी वेबसाइट का अधिकार होता है। जिसने उसे खरीदा है। इसलिए इसमें स्पीड की कोई परेशानी नहीं होती। 

इसके अलावा resources  को भी शेयर नहीं करना होता। और वेबसाइट के पास ज्यादा से ज्यादा resources  उपलब्ध होते है। वीपीएस hosting में हर वेबसाइट का अलग server होता है। लेकिन यह वर्चुअल server होता है। ना कि फिजिकल server। वर्चुअल server और फिजिकल server में क्या अंतर है। 

अब आप इसके बारे में सोच रहे होंगे, तो फिजिकल server 1 हाई कंप्यूटर पावर वाला कंप्यूटर होता है। इसमें बहुत सारे छोटे-छोटे सर्वस डिवाइड होते है। 

जैसे 1tb हार्ड डिस्क को 250gb के चार अलग-अलग फोल्डर्स में डिवाइड करना। इसमें सारे वर्चुअल server अलग-अलग होते है। 

मगर इनकी फिजिकल एक्टिविटी एक ही सिस्टम से होती है। जैसे कि एक होटल में बहुत सारे लोग होते है। वैसे ही एक कंप्यूटर में बहुत सारे वर्चुअल प्राइवेट सर्विस होते हैं।

Dedicated hosting

यह hosting वर्चुअल प्राइवेट server और shared hosting से महंगी होती है। इसमें पूरा server आपका होता है। यानी कि एक कमरे की बजाय पूरा होटल आपका होता है। इसी वजह से यह काफी महंगा hosting है।

हालांकि high ट्रैफिक और ई-कॉमर्स वेबसाइट के लिए इसे best hosting कहा जाता है। लेकिन अगर आप कोई ब्लॉगर है। तो यह आपके लिए बेकार है। अगर resources की बात की जाए, तो dedicated hosting इस मामले में काफी आगे है। पूरे server पर सिर्फ एक ही वेबसाइट का कब्जा होता है।

वेबसाइट के पास RAM,CPU, स्टोरेज, Bandwidth सिक्योरिटी सभी चीजें मौजूद होती है। इसके अलावा, इसे कस्टमाइज करने के भी बहुत सारे विकल्प मौजूद होते है। 

Server का पूरा कंट्रोल यानी रूट एक्सेस आपके पास होता है। ऐसे में आप जब चाहे और जहां चाहे इसे कस्टमाइज कर सकते है। हालांकि dedicated hosting खरीदना आसान है। 

मगर इसे मैनेज करना बहुत मुश्किल है। इसके लिए आपको टेक्निकल नॉलेज की बहुत जरूरत पड़ेगी। अगर आपको तकनीकी नॉलेज नहीं है। तो आप इसे manage नहीं कर पाएंगे। ऐसी स्थिति में आपको एक एक्सपर्ट को इस काम के लिए हायर करना होगा।

Cloud web hosting

Cloud web hosting एक नई hosting है। जो आजकल काफी popular है। इसमें कई सारे server मिलकर एक वेबसाइट के लिए काम करते है। वेबसाइट की परफॉर्मेंस अपने आप लाजवाब हो जाती है। 

मगर यह बहुत महंगा server है। और इसमें आपको सर्विस और सिक्योरिटी दोनों ही बेहतर क्वालिटी की मिलेंगे। अगर shared वीपीएस और dedicated hosting की बात की जाए,तो इन तीनों में एक कॉमन समस्या है।

इनमें resources  की एक लिमिट है। जिससे पार करते ही वेबसाइट काम करना बंद कर देती है। यानी कि जब कोई कंटेंट वायरल हो जाता है। और उस पर बहुत ज्यादा ट्रैफिक आने लगता है। तो server डाउन हो जाता है। क्योंकि ऐसे ट्रैफिक को संभालने के लिए, इन तीनों ही hosting के पास किसी तरह के resources  नहीं बचते है। 

और जब वेबसाइट काफी स्लो हो जाती है या काम करना बंद कर देती है, तो क्लाउड hosting इन मुसीबतों से बाहर निकालने में काफी मदद करता है। क्योंकि इसमें बहुत सारे server एक साथ मिलकर काम करते हैं।

Linux और windows hosting में अंतर 

जब किसी hosting प्रोवाइडर की वेबसाइट पर विजिट करना होता है। तो आपके सामने दो ऑप्शन होते है। पहला Linux hosting और दूसरा windows hosting । 

हालांकि इन दोनों में कोई ज्यादा बड़ा difference नहीं है। जो इंसान पहली बार hosting खरीदना है। उसे यह समझ में नहीं आता, कि दोनों में से किस का सिलेक्शन करना चाहिए और किस लिए, तो हम आपको इन दोनों hosting के बारे में फर्क बता रहे हैं –

Linux web hosting

ये एक ओपन सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम है। जो बिल्कुल मुफ्त है। आपको इसके इस्तेमाल के लिए पैसे नहीं देने होते है। ना ही कोई लाइसेंस खरीदना होता है। आप इसे मुफ्त में इस्तेमाल कर सकते है। इसलिए Linux पोस्टिंग बहुत सस्ती होती है।

Linux ऑपरेटिंग सिस्टम फ्री है, तो फिर hosting के लिए पैसे क्यों खर्च करें। आपके दिमाग में यह सवाल भी आया होगा। तो इसका उत्तर यह है, कि जब hosting प्रोवाइडर आपको एक कंपलीट पैकेज बनाकर देते है, तो वे आपकी जरूरत के हिसाब से हर फीचर को ऐड करके देते है। 

जिसे Cpanel भी शामिल होता है। इसके लिए आपको पैसे देने पड़ते है। हालांकि इसके बावजूद Linux hosting काफी सस्ती होती है।

Windows web hosting

Windows web hosting महंगी होती है। इसका कारण यह विंडोज माइक्रोसॉफ्ट का उत्पाद है। इसे खरीदना पड़ता है। यानी आपको माइक्रोसॉफ्ट से इसे इस्तेमाल करने के लिए लाइसेंस लेना होता है। इसकी कीमत भी थोड़ी ज्यादा है। 

विंडोज hosting महंगे जरूर होती है। लेकिन यह लियोनिक्स hosting से ज्यादा सिक्योर होती है। तो सुरक्षा के लिहाज से आप इसे खरीद सकते हैं।

Web hosting के features क्या हैं? (web hosting services)

आप सोच रहे है कि वह web hosting प्लान में क्या-क्या हो, जिससे कि आप एक बेहतर hosting प्लान खरीद पाए, तो आप hosting प्लान को खरीदते समय कुछ जरूरी बातों, का ध्यान रख सकते है। इसके बारे में हम आपको यही बता रहे हैं।

Bandwidth

  • Bandwidth hosting का एक इंपॉर्टेंट फीचर है। यह हर सेकंड प्रोसेस किए जाने वाले डाटा के मेजरमेंट को दिखाता है। 
  • जब कोई user आपकी वेबसाइट पर विजिट करता है। तो उसके और वेबसाइट के बीच, एक सेकंड में transfer होने वाले डाटा की मात्रा को Bandwidth कहा जाता है। यह मात्रा जितनी अधिक होती है। वेबसाइट उतनी ही फास्ट लोड होती है। 
  • कम समय में ज्यादा से ज्यादा डाटा transfer होने के कारण, बड़ा वेब पेज भी एक सेकंड में आपके सामने दिखाई देने लगता है।
  • मगर इसमें समस्या यह है, कि अगर Bandwidth slow है। और साइट पर ट्रैफिक बढ़ गया है, तो लोडिंग स्पीड बहुत कम हो जाएगी। इसलिए आपको ऐसा hosting प्लान चुनना चाहिए। जिसमें अनलिमिटेड Bandwidth हो। 
  • ज्यादातर hosting प्रोवाइडर अनलिमिटेड Bandwidth ही देते है। मगर आप कोई सस्ता प्लान खरीदना चाहते है। तो आपको 4GB 5gb या 10GB मंथली Bandwidth भी देखने को मिल सकता है। 
  • मगर आपको इसे खरीदने से पहले चेक जरूर करना चाहिए।

Storage –

  • जिस तरह स्मार्ट फोन में फोटो वीडियो और गाने रखने के लिए स्टोरेज की जरूरत होती है। ऐसे ही एक वेबसाइट को अपनी फाइलें रखने के लिए स्टोरेज की जरूरत होती है।
  • वेबसाइट आपको अनलिमिटेड स्टोरेज का ऑप्शन भी देता है। इसलिए अगर आप फोटो वीडियो सॉन्ग या फिर कोई सॉफ्टवेयर वेबसाइट बनाना चाहते है। तो आप अनलिमिटेड स्टोरेज best ऑप्शन मान सकते है। 
  • एक नॉर्मल blog के लिए अनलिमिटेड स्टोरेज की जरूरत नहीं पड़ती, क्योंकि ब्लॉक पर ज्यादा डाटा नहीं होता है। इसमें केवल कुछ एचटीएमएल पेजेस और थोड़ी बहुत फोटो होती है। जो ज्यादा जगह नहीं देते है। 
  • एक ब्लॉक के लिए 500 जीबी स्टोरेज बहुत अधिक होता है। बाकी आप जितना ज्यादा स्टोरेज लेंगे। आपको उतने ज्यादा पैसे खर्च करने होंगे।

Uptime

वेबसाइट के ऑनलाइन रहने के time को uptime कहते है। जितनी देर वेबसाइट ऑनलाइन रहती है। वह उसका up time होता है। और जितनी देर डाउन मतलब ऑफलाइन रहती है। वह उसका down time कहलाता है।

एक वेबसाइट 24 घंटे लाइव यानी ऑनलाइन रहती है। कभी कबार किसी टेक्निकल प्रॉब्लम की वजह से server डाउन हो सकता है। जिसकी वजह से वेबसाइट ऑफलाइन होती है। लेकिन ऐसा बहुत कम होता है। या कभी कभी ना के बराबर होता है। 

अगर फिर भी ऐसा हो रहा है। तो इसके लिए कोई hosting service provider 100% uptime की गारंटी नहीं देता 99.99 की गारंटी लेते है। जो best time है। ऐसे hosting प्लान का सिलेक्शन करें जिसमें हाईएस्ट की गारंटी हो।

Backup

hosting का एक इंपॉर्टेंट फीचर बैकअप है। यह हर वेबसाइट के लिए जरूरी है। इसकी मदद से जो वेबसाइट खत्म हो चुकी है, उन्हें भी वापस काम में लाया जा सकता है । और डिलीट हो चुकी सारी फाइल को फिर से रीस्टोर किया जा सकता है। एक hosting प्लान में इस फीचर का होना भी बहुत जरूरी है।

Customer Support –

आपके server में कभी भी कोई भी टेक्निकल प्रॉब्लम आ सकती है। और आपकी वेबसाइट ऑफलाइन हो ,जाए तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है। 

उसी वक्त कस्टमर सपोर्ट टीम से बात करके मदद मांगी जा सकती है । लेकिन क्या होगा कि कस्टमर सपोर्ट टीम आपको 2 घंटे तक जवाब ना दे।

हालांकि ऐसा नहीं होता है हर hosting service provider 24 * 7 कस्टमर सर्विस देते है। लेकिन हर hosting प्रोवाइडर इस दावे पर खरा उतरे यह जरूरी नहीं। 

इसलिए आप, जिस hosting service provider से hosting खरीदें उसकी कस्टमर सर्विस के बारे में जरूर जानकारी ले – ले।

Web hosting कहां से खरीदें और कैसे खरीदे?

Web hosting, types of web hosting, what is web hosting, free web hosting

Web hosting खरीदने के लिए आपको service provider’s के बारे में पता कर सकते है। इनमें से कुछ service provider के बारे में हम आपको बताते हैं –

No. Web Hosting Provider Name
1 WordPress.com
2 Hostgator India
3 Hostinger
4 Bluehost
5 Bigrock

wordpress.comWeb Hosting

अगर आपको कोई भी टेक्निकल नॉलेज नहीं है। तो WordPress आपके लिए best service provider है। इसमें आपको सब कुछ सेटअप किया हुआ मिलता है। साथ ही आपको 24 * 7 कस्टमर सर्विस रियल time बैकअप और सिक्योरिटी भी मिलती है। 

आपको कभी भी अगर WordPress team support की जरूरत है। तो यह आपको तैयार मिलेगी। हालांकि wordpress.com पर आपको कस्टमाइज करने की आजादी नहीं होती। जितना और किसी वेबसाइट पर आपको मिलेगी। 

मगर आपको यहां पर web development और सीएम tools मिलते है। जो और कहीं नहीं मिलेंगे अगर आपको सर्विस server डाटाबेस एसक्यूएल पीएचपी माय एडमिन के बारे में बिल्कुल नॉलेज नहीं है। तो wordpress.com आपके लिए बेहतर web hosting है। 

इसमें आपको किसी भी एक्स्ट्रा टेक्निकल नॉलेज की जरूरत नहीं है। और अगर आप इसका जब hosting प्लान पहली बार खरीदेंगे, तो आपको $25 का बोनस भी मिलेगा।

Hostinger – Web Hosting

Hostinger भी एक popular hosting प्रोवाइडर है। जो आपको ठीक-ठाक कीमत पर अच्छी सर्विस दे सकता है। अगर आप हिंदी ब्लॉग बनाते है। और आप टारगेट ऑडियंस इंडिया में रखते है। तो आप इंडियन server को चुन सकते है। इससे आपका ब्लॉग काफी फास्ट लोड होगा। 

इसके अलावा Hostinger आपको 24 घंटे कस्टमर सपोर्ट की गारंटी भी देता है। साथ ही आपको बैकअप भी देता है। 45 दिन के मनी बैक गारंटी भी Hostinger के द्वारा आपको दी जाती है। 

आपने कोई hosting प्लान खरीदा है। और पसंद नहीं आया तो आप उसे वापस करके अपने पैसे ले सकते है। WordPress और बाकी popular hosting प्रोवाइडर आपको यह फैसिलिटी प्रोवाइड करवाते हैं।

Bluehost – Web Hosting

ये भी बढ़िया hosting प्रोवाइडर है। इसकी सर्विस को WordPress भी अपना समर्थन देता है। WordPress आधिकारिक रूप से Bluehost का समर्थन करता है। WordPress hosting के लिए यह best है। 

Bluehost इंडिया के लिए सबसे अच्छा hosting प्रोवाइडर है। क्योंकि इसका इंडियन server से करीब 10 गुना फास्ट चलता है। Bluehost आपको एसएसडी स्टोरेज बैकअप मार्केटिंग टूल और ढेर सारे web development टूल्स भी उपलब्ध करवाता है।

Web hosting कैसे खरीदें?

Bluehost, Hostinger आदि ऐसी hosting company है, जो पूरी दुनिया में होस्टिंग के लिए पसंद की जाती हैं | यह सामान्यतः Daily par day 1 हजार से लेकर 1 लाख या उससे भी ज्यादा का ट्रैफिक संभाल लेती है.

यह company सबसे fast loading के साथ साथ fast server connectivity आदि भी Provide  करती है. यदि आप इनसे web hosting को खरीदना चाहते हो तो आपको नीचे लिखे कुछ साधारण स्टेप्स को फॉलो करना होगा। 

चलिए दोस्तों अब हम step by step यह जान लेते हैं, कि वेब होस्टिंग कैसे खरीदें –

First go to web hosting Site –

सबसे पहले आपको पोस्टिंग प्रोवाइडर कंपनी की ऑफिशियल साइट पर जाना होगा, और वहां जाने के बाद आपको होस्टिंग ऑप्शन पर  क्लिक करना चाहिए.

Select Hosting Plans according your budget –

यदि आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉक के लिए कोई web hosting खरीदना चाहते हैं, तो अब आप अपनी जरूरत के हिसाब से अपनी होस्टिंग के लिए Monthly and Yearly आदि प्लेन का चयन कर सकते हैं.

Claim your free domain

यदि आप कोई भी free domain इत्यादि claim  करना चाहते हैं, आप hosting खरीदते समय अपनी free domain claim कर सकते हैं. लेकिन अगर आपके पास पहले से ही कोई old domain है, तो आप उसे वहां पर आसानी से डाल दीजिए जैसे- xyz.com

Look on Uncheck Additional Service

अगर आप अतिरिक्त सर्विस जैसे की  साइड लॉक,  कोर्ट गार्डन इत्यादि खरीदना चाहते हैं, आप इसे यहां  खरीद सकते हो,  लेकिन हम आपको यह सलाह नहीं देंगे की आप ऐसा करे यह आप पर निर्भर कर सकता है, अतः आप उस समय इन दोनों सर्विसेस को Uncheck  कर दें और continue पर क्लिक करें.

Complete your Payment Option

यह होस्टिंग खरीदने का अंतिम चरण, इस स्टेप के अंदर आपको चुनी हुई वेब होस्टिंग के लिए पेमेंट करनी होगी, आप  डेबिट कार्ड / क्रेडिट कार्ड या नेट बैंकिंग की मदद से अपनी चुनी हुई web hosting को खरीदने के लिए पेमेंट कर सकते हैं. 

यह सब करने के बाद आपको पेमेंट summary show होगी साथ ही साथ आपके द्वारा दी गई email पर इसकी receipt भी भेज दी जाएगी.

अधिक जानकारी के लिए पढ़े….

हम उम्मीद करते है कि आपको हमारा यह web hosting से जुड़ा आर्टिकल पसंद आया होगा !

Also Read This-

हिंदी ब्लॉग पर Adsense Approval कैसे ले 2023

FAQ:-

प्रश्न – वेब होस्टिंग क्या है ?

उत्तर – website को इंटरनेट पर चलाने के लिए उपयोग की जाने वाली सर्विस को वेब होस्टिंग कहा जाता है।

प्रश्न – सबसे अधिक लोकप्रिय वेब होस्टिंग कौन सी है ?

उत्तर – सबसे अधिक लोकप्रिय Web Hosting shared वेब होस्टिंग है।

प्रश्न – सर्वाधिक खरीदा जाने वाला Domain एक्सटेंशन कौन सा है ?

उत्तर – विश्व में सबसे ज्यादा खरीदा जाने वाला डोमेन एक्सटेंशन .com है।

प्रश्न – वेब सर्वर क्या है ?

उत्तर – जिस Computer सर्वर में हम अपनी वेबसाइट को host करते हैं वह Computer वेब सर्वर कहलाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x
Realme 12+ 5G Launch Date, Design, Colourways Confirmed; India Launch Officially Teased Top 6 Best SMS Apps for Android Top 7 Best Free Messaging Apps for Android Top 7 Best Netflix Games to Play on Your Smartphone Top 5G phones under Rs 30,000 to buy during Amazon & Flipkart sale
Realme 12+ 5G Launch Date, Design, Colourways Confirmed; India Launch Officially Teased Top 6 Best SMS Apps for Android Top 7 Best Free Messaging Apps for Android Top 7 Best Netflix Games to Play on Your Smartphone Top 5G phones under Rs 30,000 to buy during Amazon & Flipkart sale
Realme 12+ 5G Launch Date, Design, Colourways Confirmed; India Launch Officially Teased Top 6 Best SMS Apps for Android Top 7 Best Free Messaging Apps for Android Top 7 Best Netflix Games to Play on Your Smartphone Top 5G phones under Rs 30,000 to buy during Amazon & Flipkart sale